एकलव्य आश्रम

समाज के गरीब , अनाथ एवं  बेसहारा प्रतिभाशाली बच्चे जिनके माँ - पिता नहीं है या अगर है भी तो इस स्तिथि में नहीं है की उनकी  शिक्षा एवं भोजन का समुचित प्रबंध कर सके, तो ऐसे चुने हुए संख्या में बच्चो को अपने यहाँ रखकर भोजन, शिक्षा प्रदान किया जायेगा।  इन सभी बच्चो को भी वैदिक गुरुकुल में बाकी बच्चो की तरह पढ़ाया जायेगा एवं उनको आत्मानिर्भर  बनाया जायेगा , जिससे आगे जाकर समाज के अन्य जरूरतमंद बच्चो की मदद हेतु आगे आ सके।