राजऋषि पुरषोत्तम दास टण्डन वैदिक गुरुकुल

1000 छात्रों के लिए कक्षा I से X तक सीबीएसई माध्यम से आवासीय गुरुकुल की स्थापना की जा रही है | जिसमें आधुनिक
 शिक्षा के साथ -साथ वैदिक शिक्षा तथा भारतीय संस्कार जो हमारे यहाँ के पुराने गुरुकुलों में , दिया जाता था  | इसके अलावे , बच्चों को खेल -कूद के साथ -साथ व्यावहारिक 
ज्ञान एवं सभी की कार्य कुशलता , जिससे वे किसी पर आश्रित न हो कर    पूरी तरह आत्मनिर्भर हो , उनमें अच्छे गुणों का विकास हो ,चरित्रवान हो , संस्कारी हो , राष्ट्रभक्त हों और 
उनमें सबसे बढ़कर एक श्रेष्ठ मनुष्य को  निर्मित करने  में यह गुरकुल अपनी भूमिका निभाएगी  |